राजे, झालावाड़-बारां मेरा घर परिवार का मिथ्या प्रचार कर रही है – प्रमोद शर्मा

झालावाड़। काग्रेंस के लोकसभा प्रत्याषी प्रमोद शर्मा के समर्थन में आज प्रमोद जैन भाया खनन एवं गोपालक मंत्री, बारां जिलाध्यक्ष एवं विधायक पानाचन्द मेघवाल ने अन्ता विधानसभा क्षेत्र के दो दर्जनों से अधिक गांवों एवं ढ़ाणियों में जाकर घर-घर जनसम्पर्क किया। इस दौरान उन्होंने नुक्कड़ सभाओं को सम्बोधित करते हुए प्रमोद जैन भाया ने कहाकि प्रदेष में कांग्रेस सरकार बने हुए 4 माह हुए है। बावजूद इसके हमने किसानों, युवाओं व बेराजगारों से जो वादा किया है उसे पूर्ण रूप से निभायेगें। हमारी पिछली सरकार में परवन योजना मंजूर हुई थी। किन्तु भाजपा सरकार ने राजनैतिक द्वैषता के कारण 3 साल तक परवन के काम को अटकाये रखा और जब हमने इस योजना के लिए प्रदेषाध्यक्ष सचिन पायलेट के साथ धरना प्रदर्षन किया तब जाकर सरकार की नींद खुली और आनन-फानन में कछुआ चाल से काम शुरू करवाया।
उन्होंने बतायाकि पिछली सरकार के विरोध में हमने किसानों की आवाज को लेकर पदयात्रा की और मैं आपसे वादा करता हूं कि 2023 तक परवन नदी का पानी आपके खेतों पहुंचेगा। इसलिए प्रमोद शर्मा आपके स्थानीय उम्मीदवार है। मैं इनकी गारण्टी देता हूं कि यह झालावाड़-बारां लोकसभा क्षेत्र के किसानों, महिलाओं और युवाओं की आवाज को संसद में पुरजोर से उठायेंगें। पिछले 15 साल से हम जिस सांसद को झेल रहे है उसको आपने कभी लोकसभा के लाइव प्रसारण में टी.वी. पर बोलते नहीं देखा क्योंकि उसे तो संसद में बोलना तक नहीं आता। वह आपकी आवाज को कैसे उठा सकता है। आपके बीच ऐसा सांसद है जिसे तीन बार संसद भेजा। उसे प्रधानमंत्री ने सीनियर सांसद होने के बाद भी मंत्री मण्डल में शामिल नहीं किया गया। इस बात से आप अंदाजा लगा सकते है। जिस पार्टी के मुखिया ने जिसे नापास कर दिया हो उसे आप संसद भेज रहे हो यह शर्म की बात है।
प्रमोद शर्मा ने जनसभाओं को सम्बोधित करते हुए कहा है कि दुष्यन्तसिंह कहता है कि मैं नही मेरा परिवार चुनाव लड़ रहा है तो मैं उससे पूछना चाहता हूं कि वो झालावाड़-बारां के किस आम व्यक्ति के सुख-दुःख में शामिल हुआ। ये लोग चुनाव आते ही परिवारवाद का राग अलापने लग जाते है। जिस महिला ने 2033 में अपने पति को छोड़ दिया और धन के लिए धौलपुर हाउस पर कब्जा कर बैठ गई। आज भी ग्वालियर राजघराने का कोर्ट में दावा कर रही हैै। यह इनकी धन लोलुपता का परिचय है इन मां बेटों ने झालावाड़ की धरती को छलने का काम किया है।
उन्होंने यह भी बतायाकि पूर्व मुख्यमंत्री वसुन्धरा जी कहती है कि झालावाड़ मेरा घर मेरा परिवार है, लेकिन झालावाड़ में घर आज तक नहीं बनाया ? इसका जवाब दें। वो कहती है कि 30 साल पहले मैं जब आई तो सड़कें, बिजली नहीं थी। मै कहना चाहता हूं कि सुखाड़िया सरकार में हरिषचन्द्र जी के सार्वजनिक निर्माण मंत्री रहते हुए उन्होनें कहा था कि जब तक गांव तक सड़के नहीं पहंुचेगी तब तक मेरे घर तक सड़क नहीं बनेगी। वसुन्धरा ने झालावाड़ में जो काम किया वो अहसान नहीं किया झालावाड़ की जनता ने 1989 से जीताकर संसद भेजा था। धौलपुर की जनता ने तो वसुन्धरा को नकार दिया था। झालावाड़ की जनता ने ही 1989 से आज तक सांसद और दो बार मुख्यमंत्री बनाया। इसलिए अहसान गिनाना बन्द करें।
कांग्रेस पार्टी के बारां जिलाध्यक्ष एवं विधायक पानाचन्द मेघवाल ने कहाकि पिछले 30 वर्षो से वसुन्धरा दुष्यन्त ही सांसद है। वसुन्धरा दो बार मुख्यमंत्री रही उसके बावजूद भी बारां क्षेत्र के लोग पानी के लिये क्यों तरस रहे है। इसका जवाब दें ये मां बेटे झूंठे सपने दिखाते है। इन्होंने क्षेत्र के विकास के लिये कोई काम नहीं किया अब ये केवल राष्ट्रवाद पर झूठी अफवाह फैलाकर चुनाव लड़ रहे है अपने कामों के आधार पर नहीं, प्रमोद शर्मा स्थानीय व्यक्ति है। झालावाड़-बारां क्षेत्र की आवाज उठायेेंगे ऐसा मैं विष्वास दिलाता हूं और आपसे अपील करता हूं कि हाथ के पंजे पर अधिक से बटन दबाकर भारी मतों से विजय बनायें।
इस दौरान अन्ता विधान सभा क्षेत्र के बिजोरा, पलसावा, काचरी, पचेलकलां, बड़गांव, सीसवाली, रायथल, महुवा, गोडदा, मालबमोरी, बमोरीकलां, मऊ, मांगरोल, चौकी, बोहत, मियाड़ा, कोयला, बडा, लिसाडिया, सीमली आदि दो दर्जन पंचायतों में घर-घर जाकर जनसम्पर्क किया तथा साथ में बारां जिले के कई कांग्रेस पदाधिकारी साथ रहे।

cityofbells

Daily News Jhalawar/Jalarapatan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *