परिवार के नाम पर जनता को छलती रहीं राजे-शर्मा

झालावाड। झालावाड़-बारां लोकसभा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे चुनाव के समय झालावाड व बारां की जनता को अपना परिवार बताकर वोट मांगती आई है। लेकिन इन तीस साल के दौरान आम लोगों के बीच से लोकप्रिय होने वाले नेताओं को कुचलने का काम किया है ताकि वे इन मां बेटों के लिए कभी राजनीतिक चुनौति पेश न कर सके। अब यही काम वे पूरे प्रदेश में कर रही है।
कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद शर्मा ने मंगलवार को छीपाबड़ोद व हरनावदा शाहजी में आयोजित एक सभा में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि झालावाड को अपना परिवार बताने वाली वसुंधरा राजे ग्वालियर सिंधिया परिवार में जन्मी धौलपुर में शादी हुई। उन्होंने सबसे पहला विधानसभा चुनाव धौलपुर से लड़ा लेकिन वहां की जनता ने उन्हें नकार दिया। 1989 में भैरोसिंह शेखावत ने केवल एक बार चुनाव के लिए भेजा और यहां की भोली-भाली जनता को अपना परिवार बताकर छलती रही। जबकि किसी भी दृष्टि से झालावाड़ इनकी परिवारिक पृष्ठ भूमि नहीं है। इन तीस वर्षों में झालावाड-बारां के नेतृत्व को बलपूर्वक कुचलकर लोकतंत्र को कमजोर किया। इनका लोकतांत्रिक व्यवस्था में कोई भरोसा नहीं है। आज जनता के बीच से कोई इनके बराबर पहुंचे ये इन्हें कतई पसंद नहीं है। ये राजतंत्र की तरह लगातार अपना शासन कायम करना चाहती है। उन्होंने कहा कि यहां की जनता ने राजे एवं दुष्यंत को जो दिया उसकी 10 प्रतिषत भरपाई भी वसुन्धरा नहीं कर पाई। बारां के विकास की तो पूरी तरह उपेक्षा की गई।
उन्होंने कहा कि राजे कहती है कि कांग्रेस सरकार ने जनकल्याणकारी योजनाएं बन्द कीं। जबकि कांग्रेस की अनेक कल्याणकारी योजनाओं को बन्द करने का काम गत भाजपा सरकार ने किया था। निःषुल्क दवाइयां, निःषुल्क जांच, पेंषन को भाजपा ने अपने कार्यकाल में बन्द किया। इसके चलते लोग परेषान रहे। वहीं भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना के नाम पर जनता के साथ छलावा किया गया और कांग्रेस शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं को बंद कर दिया गया। भाजपा की महिला मुख्यमंत्री के राज में अपराध का ग्राफ पिछले 15 साल के रिकॉर्ड मे चरम पर रहा। कांग्रेस प्रत्याषी ने भाजपा राज में महिला अपराध अधिक होने का आरोप लगाया। बेरोजगारों के साथ भाजपा शासन अन्याय किया और सभी भर्तियों को कोर्ट मंे अटकाया गया। बेरोजगार युवा भाजपा षासन में दर-दर की ठोकरें खाता रहा। किसानों ने सबसे ज्यादा आत्महत्या भाजपा के शासन में की।
कांग्रेस प्रत्याषी प्रमोद शर्मा ने कहा कि 15 वर्षों से इस क्षेत्र से जनता ने जिसे सांसद बनाकर भेजा वह संसद मे जनता की आवाज नहीं उठा सका। गरीब किसान बेरोजगार मिलने जाते हैं तो दुत्कार कर भगा दिया जाता है। यहां के लोगों को सांसद का कभी प्यार व स्नेह नहीं मिला। उन्होंने कहा कि झालावाड़ की भूमि को चरागाह समझा गया और चन्द दलालों के भरोसे झालावाड़-बारां की जनता पर राज किया।
पूर्व विधायक करण सिंह ने कहा 1989 से इन मां बेटे ने मिलकर जो स्थिति उत्पन्न कि है वो आपके समक्ष है। अपने पुत्रमोह मे अपने ऐसे पुत्र को सांसद बना दिया जो राजनीति की एबी सीडी भी नहीं जानता था और ऐसे सांसद को हम पिछले 15 साल से ढो रहे हैं।

cityofbells

Daily News Jhalawar/Jalarapatan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *